युग-युग से धर्म की जीत होती रही है आगे भी होती रहेगी – गौरव कृष्ण गोस्वामी

0

पवन राज सिंंह

नोएडा:PNI News :  मनुष्य को सोच-समझकर बोलना चाहिए। बोलने व लिखने से पहले चिंतन करना चाहिए। क्या खिलने जा रहे हैं उसे समझ लें और क्या बोलने जा रहे हैं उसके विषय में सोच लें, तभी जाकर कुछ भी बालें व लिखें, क्योंकि संसार में सारे फसाद बोलने से हो रहे हैं। चुप रहने में फसाद नहीं है। बोलने में ही सारा फसाद है। ऐसे में कुछ सोच समझकर ही बालें। इसी में समझदारी है। यह बातें नोएडा स्टेडियम में चल रही श्रीमद भागवत कथा के पांचवे दिन प्रसिद्ध कथा वाचक गौरव कृष्ण महाराज ने कही।

भागवत कथा के दौरान महाराज जी ने बताया कि धर्म हमेशा जीतता रहा है। महाभारत की लड़ाई में सौ कौरवों की सेना था और पांडव मात्र पांच थे, लेकिन धर्म की लड़ाई में पांडवों की जीत हुई। युग युग से धर्म की जीत होती रही है आगे भी होती रहेगी। 
सत्य व परम सत्य में अंतर है। संसार में जो कुछ देख रहे हैं वो सत्य है। मनुष्य उम्र के साथ प्रतिदिन बदलता जाता है जीवन का सत्य है। वहीं, जिसमें कुछ बदलाव नहीं हो सकता वो परम सत्य है। परमात्मा परम सत्य है। परमात्मा यहां वहां सभी जगह विराजमान हैं। इनकी सत्ता अखंड है। इनकी सत्यता के कारण संसार चल रहा है। यही बांके बिहारी परम सत्य है। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here