कैट के शीर्ष नेतृत्व ने आम्रपाली ग्रुप के लिए धोनी द्वारा किये गए विज्ञापनों के लिए उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग की

0

दिल्ली।PNI News। केंद्रीय उपभोक्ता मामलों के मंत्री रामविलास पासवान को भेजे गए एक ज्ञापन में कन्फेडरेशन ऑफ़ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट ) ने आम्रपाली समूह को बढ़ावा देने वाले अपने विज्ञापन के लिए भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान एम् एस धोनी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है क्योंकि हाल ही में सुप्रीम कोर्ट द्वारा ने आम्रपाली ग्रुप को विभिन्न अनियमित्तातों के लिए दोषी पाया है और उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं। कैट ने कहा है कि एम.एस. धोनी द्वारा आम्रपाली ग्रुप को विज्ञापनों के माध्यम से समर्थन देने पर आम्रपाली परियोजनाओं में फ्लैट खरीदने के लिए लोगों को बहुत प्रभावित किया है और चूंकि बिल्डर दोषी पाया गया है, इसलिए धोनी पर जवाबदेही भी आती है।

धोनी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग करते हुए कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी सी भरतिया और राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने पासवान से संसद के वर्तमान सत्र में उपभोक्ता सुरक्षा विधेयक पारित करने को सुनिश्चित करने की मांग की, ताकि मशहूर हस्तियों द्वारा भ्रामक और भ्रामक एंडोर्समेंट और विज्ञापनों से देश के लोगों को बचाया गया जा सके। ज्ञातव्य है की मशहूर हस्तियां विज्ञापनों और इस तरह के एंडोर्समेंट के लिए बड़ी रकम लेते हैं, बिना तथ्यों की पुष्टि किए कि वे जिस सामान या सेवाओं को एंडोर्स कर रहे हैं, वह उसके लायक है या नहीं। उपभोक्ता संरक्षण बिल को संसद द्वारा पारित किया जाना है और उसमें भ्रामक एंडोर्समेंट के लिए सेलेब्रिटीज पर भारी जुर्माना लगाने और उनकी जिम्मेदारी तय करने का प्रावधान है।

पासवान को दिए गए अपने ज्ञापन में कैट ने सुप्रीम कोर्ट द्वारा आम्रपाली समूह द्वारा फ्लैट खरीदारों से एकत्र किए गए धन को अन्य जगह इस्तेमाल किये जाने पर सख्त नाराजगी जताई है और कहा है की इस बारे में सख्त कदम उठाने जरूरी हैं। परियोजना को पूरा नहीं करने और इस तरह से फ्लैटों का कब्जा नहीं देने के बावजूद लोगों से पैसे लिए जाना कहीं न कहीं बेईमानी को दर्शाता है। भरतिया और खंडेलवाल ने कहा कि इन परिस्थितियों में एम.एस.धोनी के खिलाफ आम्रपाली समूह की परियोजनाओं की विशेष विशेषताओं को उजागर करने और उनके विभिन्न विज्ञापनों और समर्थन के माध्यम से और आम्रपाली समूह में फ्लैट खरीदने के लिए लोगों को प्रोत्साहित करने के लिए उनके खिलाफ कार्यवाही करने का यह बेहद उपयुक्त मामला है। विज्ञापन करते हुए धोनी ने यहाँ तक कह दिया की उन्होंने ने भी आम्रपाली में फ्लैट लिया है !

दोनों व्यापारी नेताओं ने कहा कि एम.एस.धोनी का इंडोर्समेंट और विज्ञापन लोगों को धोखा देने और अपनी मेहनत की कमाई को परियोजनाओं में लगाने के लिए बढ़ावा देता है जो अभी भी अपूर्ण हैं। निश्चित रूप से धोनी ने पूर्ण दिल और दिमाग से फैसला करते हुए आम्रपाली परियोजनाओं के लिए विज्ञापन किया होगा और इसलिए वो अपनी जिम्मेदारी से बच नहीं सकते !

कैट ने लोगों को गुमराह करने के लिए एम.एस.धोनी के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है। कैट ने पासवान से यह भी मांग की है कि संसद के मौजूदा सत्र में उपभोक्ता संरक्षण विधेयक को पारित करने के लिए तत्काल सभी प्रयास किए जाएं ताकि सेलेब्रिटीज को उनके द्वारा किये गए विज्ञापनों के लिए जवाबदेह बनाया जाए और उन्हें गलत एंडोर्समेंट में शामिल न किया जाए। भरतिया और खंडेलवाल दोनों ने यह भी कहा कि वे एडवर्टाइजिंग काउंसिल ऑफ इंडिया की ओर भी रुख करेंगे और अगर जरूरत पड़ी तो वे उपभोक्ताओं और लोगों की सुरक्षा के लिए न्यायालय जाने से भी नहीं हिचकेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here